Advertisement

यूपी में बिना मान्यता के चलाए जा रहे स्कूलों की शामत आ गई है. राज्य में बिना मान्यता प्राप्त सभी स्कूलों को बंद किया जाएगा. साथ ही उनपर 1 लाख रुपये का जुर्माना भी लगाया जाएगा. विद्यालय को बंद कराए जाने के बाद भी अगर स्कूलों को संचालित किया जाता है तो संचालक से प्रतिदिन 10 हजार रुपये जुर्माना वसूला जाएगा.

उत्तर प्रदेश में निशुल्क एवं अनिवार्य शिक्षा का अधिकार कानून के तहत बगैर मान्यता के चल रहे स्कूलों को तुरंत बंद किया जाएगा. बिना मान्यता वाला कोई भी स्कूल अब राज्य में संचालित नहीं किए जा सकेंगे. सर्वशिक्षा अभियान के तहत स्कूल चलों अभियान के दौरान मिले फीडबैक के कारण ऐसा होने वाला है. इस फीडबैक में बताया गया है कि राज्य में बगैर मान्यता प्राप्त वाले स्कूलों की संख्या काफी ज्यादा है.

Also Read –आज भी दुनिया से छुपकर मिलते है अमिताभ बच्चन और रेखा, तस्वीर से पता चली हक़ीक़त

बच्चे बदलेंगे स्कूल

राज्य में बिना मान्यता के चल रहे प्राथमिक और जूनियर हाईस्कूलों को अब बंद किया जाएगा. वहीं इन विद्यालयों में पढ़ रहे बच्चों का नजदीकी राजकीय, सहायता प्राप्त या वित्तविहीन मान्यता प्राप्त विद्यालयों में दाखिला दिलाया जाएगा. इस बाबत बेसिक शिक्षा विभाग की तरफ से आदेश जारी कर दिया गया है.

संचालकों से जुर्माना वसूला जाएगा

बेसिक शिक्षा विभाग के संयुक्त निदेशक गणेश कुमार ने बीएसए को बिना मान्यता के चल रहे स्कूलों को बंद कराने का आदेश जारी कर दिया है. साथ ही विद्यालय के संचालकों से 1 लाख रुपये जुर्माना वसूलने को लेकर भी निर्देश जारी किया है. बगैर मान्यता वाले स्कूलों के मान्यता को निरस्त करने के बावजूद भी अगर कोई संचालक स्कूलों का संचालन करता है तो उससे दस हजार रुपये प्रतिदिन जुर्माना वसूला जाएगा. Also Read –

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here