Advertisement

दोस्तों कुछ लोग ऐसे भी होते हैं जिन्‍हें भले ही बहुत कुछ न मिला हो, पर वह अपने हौसलों के बल पर अपने सपनों को साकार करके दिखाते हैं। इन्हीं में से एक हैं हरविंदर कौर। पंजाब के जालंधर कोर्ट की वकील हरविंदर कौर उर्फ रूबी काफी लोकप्रिय हैं। उन्होंने तमाम तरह की चुनौतियों का सामना करते हुए समाज में अपनी पहचान बनायीं है।

24 साल की हरविंदर कौर काबिलियत में किसी से कम नहीं, मगर उनके छोटे कद (Short Height) की वजह से अक्‍सर उन्‍हें लोगों के तंज का निशाना बनना पड़ता था। उनका कद महज 3 फिट, 11 इंच है। मगर इसके बावजूद उन्‍होंने इसे अपने लक्ष्‍य के आड़े नहीं आने दिया।

तो आइये जानते है, हरविंदर कौर की कहानी।

24 साल की हरविंदर कौर भारत की सबसे छोटे कद वाली एडवोकेट हैं। उनकी हाइट 3 फीट 11 इंच है। एक समय वह लोगों के ताना सुनती थीं। आज वह लोगों को न्याय दिलाने के लिए कोर्ट में उनकी लड़ाई लड़ती हैं,वह अपने साहस के जरिये अपने जैसे अन्‍य लोगों के लिए प्रेरणा बन गईं।

बनना चाहती थी एयर होस्‍टेस

रिपोर्ट के मुताबिक हरविंदर कौर का सपना एयर होस्‍टेस बनने का था, मगर उनकी कम हाइट की वजह से वह पूरा नहीं हो सका। एक इंटरव्‍यू में हरविंदर ने बताया था कि उन्‍होंने हॉकी खेलना चाहा पर अपने कद की वजह से नहीं खेल पायी। उनकी लंबाई बढ़ नहीं रही थी तो परिवार के लोगों ने बहुत डॉक्टरों को दिखाया। मेडिकेशन हुआ, योग कीं, पर कोई फायदा नहीं मिला।

छोटे कद के लिए उन्‍होंने बहुत जतन किए, मगर नतीजा कुछ नहीं निकला। अब स्थिति ऐसी हो गई कि लोगों के मजाक से बचने के लिए उन्‍होंने खुद को कमरे में बंद कर लिया था। वह कहती हैं कि एक समय लोग उनका मजाक उड़ाते थे। इससे उन्हें सुसाइडल विचार भी आते थे।

अभी वकील है मगर सपना जज बनने का

Also Read : समुद्र किनारे दिखा कपिल शर्मा की ऑनस्क्रीन पत्नी सुमोना चक्रवर्ती का हॉट अवतार, शेयर की थ्रोबैक तस्वीर

हरविंदर ने एयर होस्टेस बनने का सपना तो छोड़ दिया, लेकिन वह अपनी पहचान बनाने के दृढ़ संकल्प से पीछे नहीं हटीं। 12वीं करने के बाद उन्होंने लॉ की पढ़ाई करने का फैसला किया। लॉ की पढ़ाई करके वह वकील बन गईं। अब उनका सपना जज बनने का है, और इसके लिए वह दिन रात मेहनत कर रही हैं।

कोर्ट में भी उड़ा था हरविंदर का मजाक

अभी वह जालंधर कोर्ट में कार्यरत है। मगर यहां तक पहुंचना हरविंदर के लिए आसान नहीं था। लोग उनके छोटे कद का मजाक बनाते थे। वह कहीं बाहर जाती तो लोग उन्हें बच्ची समझ लेते थे। कई बार कोर्ट रूम के रीडर ने कहा है कि बच्ची को वकील का ड्रेस पहनाकर कोर्ट क्यों लाए हैं। इसके बाद वकील साथियों को बताना पड़ा था कि ये एडवोकेट हैं।
दोस्तों,हरविंदर के पिता शमशेर सिंह फिल्लौर में ट्रैफिक पुलिस में ASI हैं। वहीं, माता सुखदीप कौर हाउस वाइफ हैं। वह वकील के साथ मोटिवेशनल स्पीकर भी हैं। सोशल मीडिया पर काफी एक्टिव रहती हैं, यहां उनके हजारों फोलोवर हैं।

Advertisement

74 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here