Advertisement

ज्ञानवापी विवाद को लेकर हिंदू पक्ष के वकील विष्णु जैन का नया बयान सामने आया है। CNN 18 से बातचीत के दौरान उन्होंने कहा की सर्वे में पाए गए शिवलिंग को मुस्लिम पक्ष द्वारा तोड़कर फव्वारा बनाने की कोशिश की गई है। शो के दौरान उन्होने शिवलिंग के चारों तरफ बनी दीवार को हटाकर जांच करने की मांग की और कहा की अगर वजुखाने की एक बार फिर से फोटोग्राफी और वीडियोग्राफी की जाए तो साबित हो जायेगा की किस तरह से शिवलिंग में ड्रिल मशीन से 63 सेंटीमीटर अंदर तक छेद किया गया।

विष्णु जैन हिंदुओं के मंदिरों की पहचान दोबारा दिलाने के लिए इस तरह के कई केस लड़ चुकें है और उनकी टीम भारत के गौरवमय इतिहास को पुनः स्थापित करने के लिए लगातार काम कर रही है और उन्होंने कहा है कि जब तक वह इस लड़ाई को जीत नहीं लेते वे शांत नहीं बैठेंगे।

उन्होंने कहा की धार्मिक स्थलों पर पूजा करना हमारा मौलिक अधिकार है और ज्ञानवापी सर्वे के दौरान परिसर में शिवलिंग मिला है तो हमें वहां पर पूजा करने का अधिकार मिलना चाहिए। उन्होंने शो में एंकर से सवाल दागते हुए कहा की एक तरफ मुस्लिम कहते है की हम हिंदुओं का सम्मान करते है और दूसरी तरफ वो कहते है की हम लोग उसी जगह पर वजू करेंगे। जिस जगह पर एक बार मंदिर बन गया या उसके अवशेष मौजूद हो उस जगह पर मस्जिद नहीं बन सकती।

यह भी पढ़े :  धर्म परिवर्तन कर वसीम रिजवी से जितेंद्र नारायण त्यागी बने शिया सेंट्रल वक्फ बोर्ड के पूर्व चेयरमैन अब लेना चाहते है सन्यास….. नरसिंहानंद ने भी सार्वजनिक जीवन को कहा अलविदा

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here